बेस्ट ELSS फंड्स (2018-2019) Best ELSS Fund 2018

Best Balanced Funds 2018

बेस्ट ELSS फंड्स |Best ELSS fund 2018

ELSS (इक्विटी लिंक्ड सेविंग्स स्कीम), इक्विटी म्यूच्यूअल फंड का प्रकार है जो न सिर्फ़ टैक्स बचाने में मदद करता है बल्कि आपके पैसो को बढ़ने के भी बेहतर अवसर देता है। हालांकि, निवेशकों केलिए कई सारे टैक्स सेविंग्स ऑप्शंस है, जो इनकम टैक्स सेक्शन 80 (C) के तहत दी गई छूट का उपयोग करना चाहते है। ELSS टैक्स सेविंग्स म्यूचुअल फंड के रूप में सर्वोत्तम काम करता है।

ELSS फंड्स के फयदे। Benefits of ELSS funds

  • 80 (C) के तहत टैक्स सेविंग-ELSS 80 (C) के तहत आप ₹ 1, 50, 000 की बचत कर सकते है। इसका मतलब 5% पर ₹7, 500; 20% पर ₹30, 000 और 30% पर ₹45, 000 ।

  • सबसे कम लॉक इन-सेक्शन 80 (C) के तहत सारे टैक्स सेविंग ऑप्शन में से सबसे कम लॉक इन पीरियड ELSS का है जो 3 साल है। FD और ULIP 5 साल और PPF का 15 साल है।

  • इक्विटी एक्सपोज़र- इन्फ्लेशन से बेहतर रिटर्न्स पाने और वेल्थ क्रिएशन केलिए इक्विटीज बेस्ट ऑप्शन है| म्यूचुअल फंड्स के निवेश में डायरेक्ट इक्विटी से कम जोखिम होता है क्यूंकि वे विविध सिक्योरिटीज में निवेश करते है| बाकि सारे लॉन्ग टर्म एसेट क्लास्सेस की तुलना में इक्विटी बेहतर रिटर्न्स देता है |

ELSS फंड्स में निवेश करके बेहतर रिटर्न्स पाने की टिप्स।

1) फंड का परफॉरमेंस जांच ले, खास तौर पर तब का जब 2013 में डायरेक्ट प्लान आये। मार्केट में उतार चढाव के समय का परफॉर्मन्स भी जांच ले।

2) फंड की संरचना हमें यह सूचित करती है की, फंड का पोर्टफोलियो किस प्रकार स्मॉल, मिड और लार्ज कैप में बांटा गया है। यदि फंड अधिकतर जायंट या लार्ज कैप से बना है तो वह सुरक्षित निवेश माना जाता है परंतु वही अगर स्मॉल या मिड कैप से बना है तो वह निवश करने केलिए जोखिम भरा हो सकता है।

3) काफी बार निवेशक उन फंड्स से आकर्षित हो जाते है जो उस साल अच्छा परफॉर्म करते है और उन फंड्स में निवेश कर बैठते है। हर साल नए फंड में निवेश करना उन गलतियों में से एक है जो लोग अक्सर करते रहते है।

4) Beta-यह फंड के उतार-चढाव को मापता है। जितना कम beta उतने सुरक्षित फंड्स होंगे।

शार्प रेश्यो-यह फंड की परफॉरमेंस को मापता है। जितना शार्प रेश्यो उतना अच्छा फंड का परफोरैंस।

ELSS में निवेश करने केलिए टॉप फंड्स- Best ELSS fund 2018

 एक्सिस लॉन्ग टर्म इक्विटी डायरेक्ट-ग्रोथ

इस फंड की स्ट्रेटेजी यह है कि वे कंपनी के विकास को ध्यान में रखते हुए क्वालिटी स्टॉक्स खरीदे। यह फंड स्केलेबल बिजनेस मॉडल वाली कंपनियों के शेयर्स पर केंद्रित है जो कैपिटल पर बेहतर रिटर्न दे सकते है।

  • हाइलाइट्स-फंड का पोर्टफोलियो लार्ज कैप्स की तरफ झुका हुआ है, उनकी मात्रा 65-70% और मिड कैप्स 25-30% है। यह फंड लार्ज कैप की ओर झुका होने के कारण इस फंड में निवेश करना सुरक्षित मन जायेगा।

  • पिछले कुछ वर्षों का परफॉर्मन्स-यह फंड कई वर्षों तक अच्छा साबित हुआ है, हालांकि पिछले साल इसका परफॉरमेंस घट गया है क्योंकि यह सयकालिकाल स्टॉकस और क्षेत्रों में निवेश करना पसंद नहीं करता है।

  • फंड मैनेजर-इस फंड का प्रबंधन जैनिश गोपानीजी करते है। यह फंड उनके द्वारा प्रबंधन किये गए सभी फंड में सर्वोत्तम माना जाता है।

  • जोखिम और अस्थिरता-इस फंड में beta 0.82 और शार्प रेश्यो 0.48 है।

आदित्य बिरला टैक्स रिलीफ’ 96 फंड-ग्रोथ

शानदार परफॉरमेंस रेकॉर्ड के साथ, इस फंड ने पिछले 5 सालो में बेंचमार्क (S&P BSE 200) और श्रेणी, दोनों को 4 बार पीछे छोड़ा है। यह फंड क्वालिटी कंपनियों में निवेश करता है और किसी विशेष मार्किट कैप की सीमा नहीं रखता है।

  • हाइलाइट्स-यह फंड मल्टी कैप को अप्रोच करता है और इसके मिड कैप फंड्स 45% है।

  • पिछले कुछ वर्षों का परफॉर्मन्स-इस फंड का ट्रैक रिकॉर्ड 21 साल से ज़्यादा है और पिछले 5 सालो से ये काफी अच्छा परफॉर्म कर रहा है।

  • फंड मैनेजर-इस फंड का परफॉरमेंस शुरवात में अच्छा नहीं था, परंतु 2006 के बाद फंड मैनेजर अजय गर्गजी ने काफी अच्छा परफॉरमेंस दिया है।

  • जोखिम और अस्थिरता-इस फंड का beta 0.89 और शार्प रेश्यो 0.64 है।

मोतीलाल ओसवाल मोस्ट फोकस्ड लॉन्ग टर्म फंड-ग्रोथ

यह फंड शुरुआत से ही काफी अच्छा परफॉर्म करते आया है। इस फंड का अप्प्रोच मल्टी कैप है जिसमे मिड कैप लगभग 30% है और लार्ज कैप 70%। इसीलिए यह फंड लॉन्ग टर्म में विश्वास करने वाले निवेशकों केलिए सही है।

  • हाइलाइट्स-इस फंड ने महत्त्वपूर्ण मार्जिन के साथ-साथ, महीने-दर-महीने के रिटर्न्स से बेंचमार्क और केटेगरी को मात दी है।

  • पिछले कुछ वर्षों का परफॉर्मन्स-इस फंड ने तीन साल के रिटर्न्स से श्रेणी को मात दी है और पिछले 1 साल से बेहतर परफॉरमेंस भी दिया है।

  • फंड मैनेजर-इस फंड के मैनेजर गौतम सिन्हा रॉयजी है। उनसे 14 से भी अधिक वर्ष का फंड मैनेजमेंट का अनुभव है।

  • जोखिम और अस्थिरता-इस फंड का beta 0.91 और शार्प रेश्यो 1.14 है।

नीचे हमने 3 और 5 साल के रिटर्न्स के अनुसार सर्वोत्ताम ELSS फंड के पर्फोर्मंस को टेबल के रूप में समझाया है।

Best ELSS Funds

अपसाइड / डाउनसाइड कैप्चर रेश्यो:

अपसाइड / डाउनसाइड कैप्चर रेश्यो यह बताते है कि फंड की परफॉरमेंस मर्केट बेंचमार्क से ज़्यादा है या कम।

जब अपसाइड कैप्चर रेश्यो 100 से ज़्यादा हो तब फंड की परफॉरमेंस को बेंचमार्क से बेहतर माना जाता है।

जब डाउनसाइड कैप्चर रेश्यो 100 से निचे हो तब फंड की परफॉरमेंस को नेगेटिव माना जाता है।

टिप्पणियाँ:

  • ELSS इक्विटीज में निवेश करता है, इसलिए रिटर्न की गारंटी है लेकिन लॉन्ग टर्म में इक्विटी से सबसे बेहतर रिटर्न्स दिए है।

  • ELSS में 3 साल का लॉक-इन होता है, इसीलिए यदि आप SIP में निवेश करते है तो आपकी हर एक इन्सटॉलमेंट 3 साल केलिए लॉक इन हो जाएगी।

  • ELSS टैक्स सेविंग केलिए सर्वोत्तम है अगर आपके निवेश का समय 5 साल स ज़्यादा हो तो।

Best Balanced Fund in Hindi

Best ELSS Mutual funds for monthly investment 5000/-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *